प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

कोविड-19 यानी कोरोना महामारी के चलते देश में करीब 2 महिना सम्पूर्ण लॉकडाउन रहा। इस सम्पूर्ण लॉकडाउन के चलते भारतीय अर्थव्यवस्था पूरी तरह से डावांडोल हो गई। सभी उद्योग, कल-कारखाने बंद हो गये। फैक्ट्रियां बंद होने के चलते मजदूर एक झटके में बेरोजगार हो गये। फक्ट्री मालिकों ने मजदूरों को बिना तनख्वाह दिए, अपने यहां से निकल जाने के लिए कह दिया।

जिसके चलते मजदूरों स्थिति बहुत ख़राब हो गई। एक तरह से वह सडक पर आ गये। घर भी नहीं जा सकते थे क्योंकि यातायात के सभी साधनों को एक झटके में बंद कर दिया गया था। मजदूर शहर में भी नहीं रुक सकते थे, क्योंकि उनके पास खाने के लिए कुछ नहीं था। मजदूरों ने हाइवे के रस्ते पैदल ही अपने – अपने गृह जनपदों के लिए जाने लगे।

लेकिन सवाल अब भी वही का वही है कि मजदूर अगर अपने घर पहुंच भी गये तो खायेंगे क्या? इस भुखमरी के विकराल संकट को टालने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY 2020) शुरु की गई। इस योजना के तहत गरीबों को कोटेदार की दुकान के माध्यम से नि:शुल्क राशन देने की व्यवस्था की गई है। जानिए इस योजना के बारें में विस्तार से।

आपका बिजनेस कितना पुराना है?
पिछले साल की बिक्री ?
प्रथम नाम
अंतिम नाम
मोबाइल नंबर
अपने शहर का नाम दें

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

Icon1

न्यूनतम कागजात

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं है

Icon4

प्री-पेमेंट चार्जेंस फ्री

6 EMI का भुगतान करने के बाद

Icon3

सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

रकम आपके बैंक खाते में

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY 2020) क्या है?

यह यह जनउद्धार योजना है। इस योजना को केन्द्र सरकार ने लांच किया है। योजना के तहत पात्र लोगों को जीवन यापन करने भर राशन निशुल्क दिया जाता है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की घोषणा वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारामन जी ने प्रथम लॉकडाउन के दौरान 26 मार्च 2020 की थी। हालांकि शुरुवात में यह योजना सिर्फ लॉकडाउन के समय के लिए प्रासंगिक थी। लेकिन, जैसे – जैसे लॉकडाउन बढ़ता गया वैसे – वैसे इस योजना का कार्यकाल भी बढ़ता गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदर दास भाई मोदी ने 30 जून 2020 को देश के नाम एक बार फिर से संबोधन दिया। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहां कि “प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना नवंबर 2020 तक के लिए वैध घोषित कर दी गई है”। मतलब अब पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत पात्र लोगों को नवंबर 2020 तक निशुल्क राशन मिलता रहेगा।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY 2020) का लाभ

यह योजना शहरी गरीब और ग्रामीण गरीब दोनों के लिए समान रुप में मान्य है। इस योजना के तहत पात्र व्यक्ति को हर महीने 5 किलो गेहूं या 5 किलो चावल और प्रति परिवार हर महीने एक किलो चना निशुल्क दिया जाता है। इस योजना के बारें में खास बात यह है कि इस योजना के तहत एक परिवार में जितने सदस्य हैं, सभी को हर महीने 5 किलो चावल या गेंहू मिलता है। और प्रति परिवार एक किलो चना।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने जब 30 जून 2020 को अपना संबोधन दिया तो इस योजना के विस्तार के बारें में बताया। उन्होंने इस योजना के नवंबर 2020 तक चलते रहने की घोषणा किया। इसी के साथ उन्होंने पीएम गरीब कल्याण योजना की लागत के बारें में भी बताया। पीएम ने कहा कि पीएम गरीब कल्याण योजना के नवम्बर तक विस्तार करने में 90 हजार करोड़ रूपये से अधिक खर्च होंगे।

इसी के साथ पीएम ने आगे कहा कि इस योजना के तहत पिछले 3 महीने में सहायता दी गई है, उसे मिलाकर नवंबर तक जोड़ने के बाद पीएम गरीब कल्याण योजना का कुल बजट 1.5 लाख करोड़ रुपये का हो जाता है। आपको जानकारी के लिए बता दें कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना - Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana (PMGKY 2020) के तहत 80 करोड़ लोगों की लाभ पहुंचाया जा रहा है।

पीएम गरीब कल्याण योजना का लाभ कैसे मिलता है?

इस योजना के बारे में सबसे बेहतरीन बात यह है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसी व्यक्ति को कहीं जाने की आवश्यकता नहीं है और न ही कोई फार्म इत्यादि भरने का झंझट है। इस योजना के तहत लाभ बहुत आसानी से मिलता है।

पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत लाभ स्थानीय कोटेदार के द्वारा मिलता है। कोटेदार के पास सभी पात्र लोगों की लिस्ट होती है। पात्र व्यक्ति को अपना राशन कार्ड लेकर स्थानीय कोटेदार के पास जाना होता है। कोटेदार अपनी लिस्ट से मिलान करके पात्र व्यक्ति को निशुल्क राशन प्रदान कर देता है। इस तरह आप समझ सकते हैं कि इस योजना का लाभ प्राप्त करना कितना आसान है।

कारोबारियों को ZipLoan से मिल रहा है 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन

देश की प्रमुख नॉन बैंकिंग फाइनेशियल कंपनी ZipLoan द्वारा कारोबारियों को आर्थिक सुविधा के लिए सिर्फ 3 दिन* में, 7.5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन दिया जाता है। ZipLoan देश में प्रमुख ऐसी फिनटेक कंपनी है जो एमएसएमई कारोबारियों को बिना कुछ गिरवी रखे, बिजनेस लोन प्रदान करती है।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि ZipLoan द्वारा अधिक से अधिक कारोबारियों को लोन देने के लिए बहुत आसान पात्रता मापदंड बनाया गया है। साथ ही बेहद कम कागजी दस्तावेजों की मांग की जाती है। निम्न कागजातों की जरूरत पड़ती है:

ZipLoan से बिजनेस लोन पाने की पात्रता

ZipLoan से बिजनेस लोन लेने के फायदें

ICICI-Prudential-Internal-page

बुनियादी समस्याओं का हल

राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?