पीएम किसान योजना

भारत एक कृषि प्रदान देश है। यहां की 60% प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर है। लेकिन सच्चाई यह भी है की देश में सबसे अधिक आर्थिक हालत खराब है, तो वह किसान बंधु हैं। किसानों की आय फसल पर ही निर्भर होती है। फसल अच्छी हुई तो ठीक, नहीं तो फिर तमाम तरह की आर्थिक कठिनाइयां शुरु हो जाती हैं। 

नरेद्र मोदी जी 2014 में देश के प्रधानमंत्री बने। नरेंद्र मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद तमाम सेक्टर के लिए समर्पित योजना बनाकर विकास करने की सरकारी योजनाएं बनाई गई। जैसे एमएसएमई कारोबारियों के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना शुरु की गई है। इस योजना के तहत एमएसएमई कारोबारियों को 3 कैटेगरी में 10 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन, बिना कुछ गिरवी रखे प्रदान किया जाता है।

उद्यमियों के लिए उद्योग बंधु पोर्टल शुरु किया गया। उद्योग बंधु पोर्टल पर अब कारोबारी अपने बिजनेस से संबंधित कोई भी अप्रूवल प्रमाण पत्र हासिल कर सकते हैं। किसानों की आर्थिक मदद करने के लिए पीएम किसान सम्मान निधि योजना शुरु की गई।  

पीएम किसान योजना में किसानों को 3 चरण में कुल 6 हजार रुपये प्रतिवर्ष देने का निर्णय किया गया है। यह धनराशि 2000 रुपये के बार में दी जाती है। एक साल में कुल 3 बार किसानों को 2 – 2 हजार रुपये प्रदान किया जाता है। आइये पीएम किसान योजना के बारे में विस्तार से समझते हैं।

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

Icon1

न्यूनतम कागजात

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं है

Icon4

प्री-पेमेंट चार्जेंस फ्री

6 EMI का भुगतान करने के बाद

Icon3

सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

रकम आपके बैंक खाते में

पीएम किसान योजना - पीएम किसान सम्मान निधि

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की घोषणा 2019 के अंतरिम बजट में की गई है। योजना की घोषणा वित्त मंत्री श्री पियूष गोयल ने 1 फरवरी 2019 को किया था। पीएम किसान निधि योजना की घोषणा करते हुए वित्त मंत्री पियूष गोयल जी ने कहा कि “पीएम किसान सम्मान निधि योजना किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम है”। 

पीएम किसान सम्मान निधि योजना की खास बात यह है कि इस योजना के तहत देश के छोटे और सीमांत किसानों को सालाना 6 हजार रुपये केन्द्र सरकार और राज्य सरकारों के सहयोग से दिया जायेगा। इस योजना की सबसे खास बात है कि योजना के तहत मिलने वाला धन सीधे लाभार्थी किसानों के बैंक खाता में भेजा जायेगा। 

पीएम किसान योजना का लाभ कितने किसानों को मिलेगा? 

प्रधानमन्त्री किसान सम्मान निधि के तहत 12 करोड़ छोटे और सीमान्त किसानों को सालाना 6 हजार रुपये प्राप्त होगा। इस योजना की लागत प्रति वर्ष 75,000 करोड़ रूपए होगी। छोटे और सीमांत किसान उन किसानों को कहा गया है जिन किसानों के पास 2 हेक्टेयर (4।9 एकड़) से कम उपजाऊ भूमि है।

पीएम किसान योजना दिसम्बर 2018 से लागू हो गई है। सभी पात्र किसानों को 3 किश्तों में 2 – 2 हजार रुपये भेजा जा रहा है। किसान भाई पीएम किसान सम्मान निधि फंड से मिलने वाले धन का उपयोग बीज खरीदने के लिए, बुवाई कराने इत्यादि जैसे कार्यों के लिए या व्यक्तिगत तौर पर किसी जरूरत के लिए खर्च कर सकते हैं।

पीएम किसान योजना का लाभ कैसे मिलता है?

प्रधानमंत्री किसान योजना का लाभ उठाने के लिए पहले अपने सर्किल के लेखपाल से संपर्क करके सहज जन सेवा सेंटर पर फॉर्म भरना होता था। लेकिन, कोरोना के चलते अब इस प्रक्रिया को बहुत आसान बना दिया गया है। अब किसानों के लिए एक समर्पित पोर्टल का निर्माण किया गया है। 

इस पोर्टल का नाम पीएम किसान है। (pmkisan.gov.in) इस पोर्टल के जरिये किसान खुद से अपना नाम किसान सम्मान निधि योजना से जोड़ सकते हैं। जो किसान पहले ही पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लिए अवेदन किये हैं, वह अपने आवेदन की स्थिति भी इसी पोर्टल पर जांच सकते हैं। 

पीएम किसान योजना के लिए निम्न कागजातों की जरूरत होती है

  • पहचान पत्र (आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, राशन कार्ड या ऐसा कोई भी पहचान पत्र जो सरकार द्वारा जारी किया हो और उसपर लाभार्थी का फोटो भी हो।
  • निवास प्रमाण पत्र (तहसील द्वारा जारी किया गया निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड या राशन कार्ड या ऐसा कोई भी प्रमाण पत्र जिसे सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी किया गया हो। 
  • खेत का नक्शा। 
  • ग्राम प्रधान या सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी किया गयाछोटे जोत या सीमांत किसान होने का प्रूफ।
  • बैंक खाता पासबुक की फोटोकॉपी

ZipLoan द्वारा कारोबारियों को दिया जाता है सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

नॉन बैंकिंग फाइनेशियल कंपनी ZipLoan द्वारा कारोबारियों की सुविधा के लिए सिर्फ 3 दिन* में, 7.5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन दिया जाता है। ZipLoan देश में प्रमुख ऐसी फिनटेक कंपनी है जो एमएसएमई कारोबारियों को बिना कुछ गिरवी रखे, बिजनेस लोन प्रदान करती है।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि ZipLoan द्वारा अधिक से अधिक कारोबारियों को लोन देने के लिए बहुत आसान पात्रता मापदंड बनाया गया है। साथ ही बेहद कम कागजी दस्तावेजों की मांग की जाती है। निम्न कागजातों की जरूरत पड़ती है:

  • आधार कार्ड 
  • पैन कार्ड
  • पिछले साल की बैंक स्टेटमेंट
  • पिछले साल की फाइल आईटीआर की कॉपी
  • घर या बिजनेस की जगह में से किसी एक के मालिकाना हक का प्रूफ

ZipLoan से बिजनेस लोन पाने की पात्रता

  • बिजनेस 2 साल से पुराना हो
  • बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख से अधिक हो
  • पिछले साल भरी गई आईटीआर डेढ़ लाख से अधिक हो
  • घर या बिजनेस की जगह में से कोई एक खुद के नाम पर हो (घर या बिजनेस की जगह में से कोई एक अगर पति – पत्नी, माता – पिता, पुत्र – पुत्री, भाई – बहन के नाम पर हो तो भी मान्य किया जाता है।

ZipLoan से बिजनेस लोन लेने के फायदें 

  • सिर्फ 3 दिन* में लोन 
  • बिना कुछ गिरवी रखें बिजनेस लोन मिलता है
  • 6 महीने बाद प्री पेमेंट चार्जेस फ्री यानी जब कोई कारोबारी 6 महीने के बाद लोन इक्कठे वापस करना चाहे तो कर सकता है, इसके लिए कोई एक्स्ट्रा चार्ज नही देना पड़ता है। 
  • ऑनलाइन प्रोसेस: ZipLoan से बिजनेस लोन लेने का सभी प्रोसेस ऑनलाइन है। आवेदन करने से लेकर जरूरी कागजात जमा करने तक सभी कुछ ऑनलाइन ही होता है।
  • टॉप अप लोन की सुविधा: जिन ग्राहकों ने 9 EMI ठीक समय से जमा किया होता है, उन्हें टॉप अप लोन की भी सुविधा दी जाती है।
ICICI-Prudential-Internal-page

बुनियादी समस्याओं का हल

राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?