जूट उद्यमी योजना (CUY)

नरेद्र मोदी सरकार को सरकारी योजनाओं की सरकार कहा जाना चाहिए। इसके पीछे कारण है। नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा अभी तक 200 से अधिक सरकारी योजनाएं चलाई जा चुकी हैं। ये सबही योजनाएं जनकल्याण जो ध्यान में रखकर शुरु की गई हैं। 

इन्हीं जनकल्याणकारी योजनाओं में से एक एक योजना है जूट उद्यमी योजना। जूट उद्यमी योजना - Coir Udyami Yojana (CUY) एक क्रेडिट-लिंक्ड सब्सिडी योजना है। इस योजना के तहत जो उद्यमी जूट का उद्योग करते हैं, उन्हें अधिकतम 10 लाख रू। प्रति प्रोजेक्ट के हिसाब से बिजनेस लोन के तौर पर सरकारी मदद मिलती है। 

आपको जानकारी के लिए बता दें कि एमएसएमई के विकास के लिए देश की प्रमुख नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (एनबीएफसी) ZipLoan द्वारा 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन, सिर्फ 3 दिन में, बिना कुछ गिरवी रखे प्रदान किया जाता है। 

आइये जूट उद्यमी योजना (CUY) के बारे में समझते हैं कि जूट उधमी योजना क्या है? जूट उद्यमी योजना में लाभ क्या मिलता है और लाभ के लिए क्या कागजात जमा करना होता है और किसको मिल सकता है जूट उद्यमी योजना का लाभ? आइये जानते हैं।

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

Icon1

न्यूनतम कागजात

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं है

Icon4

प्री-पेमेंट चार्जेंस फ्री

6 EMI का भुगतान करने के बाद

Icon3

सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

रकम आपके बैंक खाते में

जूट उधमी योजना क्या है?

यह एक क्रेडिट-लिंक्ड सब्सिडी योजना है। जूट उद्यमी योजना में जूट निर्माण इकाइयों के उद्यमियों को अधिकतम 10 लाख रू। तक लागत के प्रोजेक्ट शुरु करने के लिए सरकार की तरफ से बिजनेस लोन आर्थिक मदद के तौर पर मिलता है।

यह योजना एडवांस और लोन का एक मिश्रित रूप है। इस योजना में  बिजनेस के मालिक को बिजनेस में शुरुआती रुप से धन इन्वेस्ट करना होता है। आपको जानकारी के लिए बता दें कि जूट निर्माण इकाई स्थापित करने के इच्छुक लोग भी स्टार्ट-अप के तौर पर जूट मैनुफैक्चरिंग की यूनिट शुरु कर सकते हैं।

जूट निर्माण इकाई स्थापित करने के इच्छुक लोग अपने राज्य के किसी भी जूट बोर्ड या जूट बोर्ड द्वारा नामित संस्थान में सब्सिडी सहित बिजनेस लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। हालांकि ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन अप्लाई करने का भी विकल्प दिया गया है। 

ऑनलाइन तरीके से अप्लाई करने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होता है। आधिकारिक वेबसाइट http://coirservices.gov.in/frm_login.aspx है। ई वेबसाइट पर पर लॉग इन करके जूट उधमी योजना के तहत सब्सिडी और बिजनेस लोन प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन अप्लाई किया जा सकता है।

जूट उद्योग योजना (CUY) का प्रमुख लाभ

  • पहले से स्थापित या नया जूट मैनुफैक्चरिंग यूनिट शुरु करने के लिए सब्सिडी पर बिजनेस लोन मिलता है। प्रति प्रोजेक्ट लागत 10 लाख रु तक होना चाहिए, तभी लोन पास होता है। 
  • प्रोजेक्ट की कुल लागत में 10 लाख रुपये में बिजनेस का वर्किंग कैपिटल पूंजी शामिल नहीं किया जाता है। 

 

  • प्रति प्रोजेक्ट में वर्किंग कैपिटल कुल लागत का 25% से अधिक नहीं होना चाहिए।
  • प्रति प्रोजेक्ट 10 लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता का प्रावधान किया गया है, लेकिन कुल लागत का सिर्फ 5% हिस्सा खुद कारोबारी द्वारा वहन किया जाना चाहिए।
  • प्रति प्रोजेक्ट कारोबारी प्रोजेक्ट लागत की सरकार से 40% सब्सिडी का लाभ उठा सकता है।
  • बिजनेस लोन प्रोजेक्ट के शेष 55% हिस्सा पर दिया जाता है।
  • किसी भी प्रोजेक्ट की टोटल कास्ट की बात जब कही जाती है तब उस टोटल कास्ट में सभी तरह की कैपिटल पर्चेज़ शामिल है। हालांकि, वर्किंग कैपिटल पूंजी को लोन और सब्सिडी के उद्देश्य के लिए उपयुक्त नहीं माना जाता है

 

जूट उधमी योजना का लाभ किसे मिल सकता है?

Coir Udyami Yojana (CUY) - जूट उद्यमी योजना एक क्रेडिट-लिंक्ड सब्सिडी योजना है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए वह लोग पात्र होते हैं, जिनकी उम्र 18 वर्ष से अधिक हो और वह जूट फाइबर, यार्न और तैयार उत्पादों का उत्पादन करने का बिजनेस करते हो या करना चाहते हों।

इसी के साथ आपको बता दें कि जूट उधमी योजना के तहत व्यक्तिगत के साथ – साथ संगठन के रुप में भी बिजनेस लोन के लिए अप्लाई किया जा सकता है। निम्न संगठन अप्लाई कर सकते हैं:

  • कंपनियां 
  • कोई व्यक्तिगत व्यक्ति 
  • गैर सरकारी संगठन (NGO)
  • स्व-सहायता समूह 
  • रजिसटर्ड सोसायटी 
  • उत्पादन सहकारी समिति
  • और धर्मार्थ ट्रस्ट 
  • संयुक्त लाइबिलिटी समूह

 

इसी के साथ यह भी ध्यान देने वाली बात है कि यदि आवेदनकर्ता ने इससे पहले केंद्र सरकार या राज्य सरकार की किसी अन्य योजना के तहत सब्सिडी का लाभ उठाया है, तो वह जूट उधमी योजना (CUY) के लिए अपात्र हो जायेगा।

जूट उधमी योजना के लिए जरूरी कागजात 

  • पहचान पत्र 
  • निवास प्रमाण पत्र 
  • जिस भवन में जूट उद्योग चल रहा है या खुलने वाला है, उस भवन का नक्सा और मालिकाना हक की कॉपी। अगर भवन किराये पर है तो भवन मालिक का अनापत्ति प्रमाण पत्र।
  • तहसीलदार/एसडीएम या सक्षम प्राधिकारी से जारी जाति प्रमाण पत्र (अगर आरक्षित श्रेणी का लाभ लेना है तब)
  • अगर व्यक्ति अकेला अप्लाई कर रहा है तो फॉर्म एक ही चाहिए। अगर आवेदन करने वाला कोई संगठन है तो संगठन के उपनियमों की प्रमाणित कॉपी आवेदन के साथ लगानी अनिवार्य है।
  • खर्चे का लेखा – जोखा: बिजनेस में कुल कितना खर्चा अभी तक हो चुका है? आगे कितना होना होने वाला है? खर्च किस – किस मद में किया गया है या होने वाला है? इन सभी का विस्तृत विवरण देना होगा।
  • अगर व्यक्ति ने जूट उद्योग में पहले भी काम किया है तो उसका अनुभव प्रमाण पत्र देना होगा।
  • EDP ट्रेनिंग सर्टिफिकेट।
  • DIC द्वारा जारी औद्योगिक प्रतिष्ठान प्रमाणपत्र।

 

जूट उद्यमी योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए अप्लाई कैसे करें

ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन अप्लाई करने का विकल्प दिया गया है। ऑफलाइन आवेदन कई जगह से किया जा सकता है। ऑफलाइन आवेदन निम्न जगहों से किया जा सकता है:

  • जूट बोर्ड कार्यालय
  • ज़िला औद्योगिक केंद्र
  • जूट प्रोजेक्ट कार्यालय
  • पंचायती राज विभाग
  • कॉर्ड बोर्ड द्वारा अप्रूव नोडल कार्यालय


इसके अतिरिक्त ऑनलाइन आवेदन करने के लिए जूट बोर्ड की वेबसाइट (
http://coirservices.gov.in/frm_login.aspx) लॉग इन करना होता है और फॉर्म भरने के बाद सभी जरूरी कागजातों की पीडीऍफ़ फाइल अटैच करने के बाद सबमिट कर देना होता है। 

ZipLoan से पहली बार बिजनेस लोन मिलता है बहुत आसानी से 

ZipLoan कंपनी फिनटेक सेक्टर की प्रमुख गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (एनबीएफसी) - नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी NBFC प्रमुख है जिससे कारोबारियों को 7.5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन सिर्फ 3 दिन* में बिना कुछ गिरवी रखे मिलता है। 

बिजनेस लोन के लिए शर्तें

  • बिजनेस 2 साल से अधिक पुराना हो। 
  • बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख से अधिक हो। 
  • बिजनेस के लिए सालाना डेढ़ लाख से अधिक की आईटीआर फाइल होती हो।
  • बिजनेस की जगह या घर की जगह में से कोई एक खुद के नाम पर हो। (यह माता – पिता, भाई – बहन, पति – पत्नी, पुत्र – पुत्री के नाम पर हो तो भी मान्य किया जाता है।)

 

ZipLoan से बिजनेस लोन के लिए जरूरी कागजत 

  • बिजनेस का रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र
  • 9 महीने का बैंक स्टेटमेंट
  • फाइल की गई आईटीआर की कॉपी
  • घर या बिजनेस की जगह में से किसी एक का मालिकाना हक का प्रूफ। (यह माता – पिता, भाई – बहन, पति – पत्नी, पुत्र – पुत्री इत्यादि में से किसी के नाम पर हो तो भी मान्य किया जाता है।)
ICICI-Prudential-Internal-page

बुनियादी समस्याओं का हल

राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?