कैश क्रेडिट लोन

कैश क्रेडिट लोन एक शॉर्ट टर्म लोन है। जिसका उपयोग बिजनेस का वर्किंग कैपिटल मैनेज करने के लिए किया जाता है। कैश क्रेडिट लोन का अधिकतम टेन्योर 12 माह यानी एक साल होता है। यह लोन मूलतः ग्राहक के क्रेडिट यानी सिबिल स्कोर के आधार पर मिलता है। क्रेडिट स्कोर कम होने पर, कैश क्रेडिट नहीं मिलता है। बिजनेस लोन और कैश क्रडिट लोन अलग – अलग होता है। 

आपका बिजनेस कितना पुराना है?
पिछले साल की बिक्री ?
प्रथम नाम
अंतिम नाम
मोबाइल नंबर
अपने शहर का नाम दें

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

Icon1

न्यूनतम कागजात

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं है

Icon4

प्री-पेमेंट चार्जेंस फ्री

6 EMI का भुगतान करने के बाद

Icon3

सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

रकम आपके बैंक खाते में

किसको मिलता है कैश क्रेडिट लोन

यह मुख्य तौर से किसी बिजनेस, कंपनी या फैक्ट्री को मिलता है। जिसका उपयोग कारोबार के दैनिक खर्चो को पूरा करने के साथ ही कैश क्रेडिट का उपयोग बिजनेस का विस्तार करने में, दुकान किराये पर लेने में, मशीनरी की खरीद करने और मशीनरी को अपग्रेड करने में, कच्चा माल खरीदने में, स्टॉक बढ़ाने में, कर्मचारियों को सैलरी देने आदि जैसे कार्यो के लिए किया जाता है। ध्यान रहे कि कैश क्रेडिट का उपोयोग व्यक्तिगत कार्यो के लिए नहीं होता है। 

कैश क्रेडिट लोन पर ब्याज दर 

इस वित्त सुविधा की खास बात यह है कि यह सिर्फ बैंको से ही मिलता है। एनबीएफसी से बिजनेस लोन मिलता है। कैश क्रेडिट लोन की ब्याज दर सभी बैंको की अलग – अलग होती है। तथा यह समय – समय पर बदलती रहती है। ब्याज दर ग्राहक के क्रेडिट स्कोर पर भी निर्भर करती है। इसलिए, हमेसा कैश क्रेडिट लोन के लिए आवेदन करने से पहले ब्याज दर के बारें में जानकारी जरुर प्राप्त कर लें। 

कैश क्रेडिट की महत्वपूर्ण विशेषताएं 

सेट क्रेडिट लीमिट मिलता है 

कैश क्रेडिट लोन, एक तरह का क्रेडिट कार्ड ही है। इसमें उपभोक्ता को, उसके बिजनेस का नेटवर्थ देखते हुए एक कैश लीमिट प्रदान की जाती है। जिसमे उपभोक्ता आवश्यकतानुसार पैसा खर्च कर सकता है। 

जितना खर्च, उतने पर ब्याज  

अगर कोई समान्य लोन एक बार मंजूर हो जाता है और ग्राहक के बैंक अकाउंट में आ जाता है, तो ग्राहक को पुरे लोन अमाउंट पर ब्याज का भुगतान करना होता है। लेकिन, कैश क्रेडिट लोन में, यह सुविधा है कि ग्राहक द्वारा जितना पैसा खर्च किया जाता है, सिर्फ उतने रकम पर ब्याज लागू होता है। 

न्यूनतम कमीटमेट चार्ज  

शॉर्ट टर्म लोन लोन का उपयोग बिज़नेस की हर रोज़ की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए किया जाता है। इसमें बहुत बेसिक कमीटमेंट चार्ज लगता है। 

कुछ भी गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं 

कैश क्रेडिट लोन का लेने के लिए ग्राहक को अपनी किसी प्रॉपर्टी को बैंक के पास गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं होती है। यह ग्राहक के अकाउंट पर और उनके बिजनेस के माली हालत को देखते हुए मिलता है। 

बढ़िया टेन्योर 

कैश क्रेडिट आमतौर पर 12 महीने की अधिकतम अवधि के लिए दिया जाता है, जिसके बाद ड्राइंग पावर का पुनर्मूल्यांकन किया जाता है। 

कैश क्रेडिट कैसे काम करता है? समझिए 

कंपनी समोसा एक फोन निर्माता है और एक कारखाने का संचालन करती है जहां कंपनी कच्चे माल की खरीद के लिए उन्हें तैयार माल में बदलने के लिए पैसे का निवेश करती है। हालांकि, तैयार माल सूची तुरंत बेचा नहीं जाता है। कंपनी की पूंजी इन्वेंट्री के रूप में अटक गई है। कंपनी ए को कैश में परिवर्तित करने के लिए अपनी तैयार माल सूची की प्रतीक्षा करते हुए अपने खर्चों को पूरा करने के लिए, कंपनी अपने व्यवसाय को बिना किसी कमी के चलाने के लिए कैश लोन लोन लेती है। 

कैश क्रेडिट के लाभ जानिए 

वर्किंग कैपिटल मैनेज करने में सहायक  

कैश क्रेडिट लोन द्वारा बिजनेस को कार्यशील रखने में मदद मिलती है। इससे बिजनेस का कैश – फ्लो बना रहता है। कैश क्रंच से नहीं जूझना पड़ता है। 

आसान व्यवस्था 

इसे आसानी से एक बैंक द्वारा प्राप्त किया जा सकता है, बशर्ते ग्राहक का खाता उस बैंक में हो। 

सुविधाजनक 

कैश क्रेडिट खाते पर निकासी कई बार की जा सकती है, उधार सीमा तक, और खाते में अतिरिक्त नकदी जमा करने पर उस ब्याज का बोझ कम होता है जो एक कंपनी का सामना करता है। 

टैक्स छूट बेनिफिट्स 

कैश क्रेडिट लोन लेने पर टैक्स बेनिफिट्स मिलता है। इसमें भुगतान किए गए ब्याज टैक्स कटौती योग्य हैं और इस प्रकार, बिजनेस पर कुछ टैक्स का बोझ को कम हो जाता है। 

कैश क्रेडिट लोन का नुकसान 

  1. ब्याज की उच्च दर- पारंपरिक लोन की तुलना में कैश लोन पर ब्याज दर बहुत अधिक है। 
  2. अधिकतम चार्ज - बिजनेस द्वारा अपने कैश लोन का उपयोग किया जाता है या नहीं, इसकी परवाह किए बिना अधिकतम शुल्क लगाया जाता है। 
  3. सुरक्षित करने में कठिनाई - शॉर्ट लोन उधारकर्ता के कारोबार के आधार पर उधारकर्ता को दिया जाता है, प्राप्य संतुलन, अपेक्षित प्रदर्शन और संपार्श्विक सुरक्षा प्रदान करता है। इसलिए, नई कंपनियों को प्राप्त करना मुश्किल हो सकता है। 
  4. वित्त का अस्थायी स्रोत – कैश क्रेडिट लोन का एक शॉर्ट टर्म सोर्स है। एक बिजनेस समय की विस्तारित अवधि के लिए उस पर भरोसा नहीं कर सकती है। लोन की समाप्ति के बाद, इसे नए नियमों और शर्तों के तहत नवीनीकृत किया जाना चाहिए। 

कैश क्रेडिट से बेहतर होता है बिजनेस लोन 

एमएसएमई उद्योग के लिए कैश क्रेडिट लोन ठीक विकल्प नहीं होता है। क्योंकि, इसमे बहुत सी विसंगती होती है। वहीं बिजनेस लोन, एमएसएमई कारोबारियों के लिए ही बना होता है, इसलिए यह सदैव बेहतर विकल्प साबित होता है। ZipLoan से 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन, सिर्फ 3 दिन* में मिलता है। 

बिजनेस लोन पाने की योग्यता

  1. कारोबार का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक का होना चाहिए 
  2. पिछले साल भरी गई ITR कम से कम 1.5 लाख की होनी चाहिए 
  3. घर या कारोबार की जगह खुद के नाम पर या ब्लड रिलेशन से संबंधित किसी के नाम पर होनी चाहिए 
  4. कारोबार कम से कम 2 साल पुराना होना चाहिए

लोन के लिए जरूरी कागज़ी दस्तावेज़

  1. पैन कार्ड 
  2. पिछले 9 महीने का बैंक स्टेटमेंट 
  3. पिछले 1 साल के दौरान भरी गई ITR की कॉपी 
  4. घर या कारोबार के पता का प्रमाण पत्र
ICICI-Prudential-Internal-page

बुनियादी समस्याओं का हल

राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?