पैन कार्ड क्या है और आवेदन कैसे करें?

पैन-कार्ड

पैन कार्ड क्या है?

पैन कार्ड के लिए ऑनलाइन अप्लाई करने के बारे में यह जान लेना जरूरी है कि पैन कार्ड क्या है। पैन कार्ड एक अंग्रेजी शब्द है। इसे हम प्रापर रुप में – PAN Card कहते हैं। PAN Card का फुल फॉर्म Permanent Account Number और हिन्दी में स्थाई खाता नंबर कहते हैं।

पैन कार्ड भारत सरकार के आयकर विभाग द्वारा बनता है। किसी व्यक्ति का उसके पुरे जीवन में केवल एक बार पैन कार्ड बन सकता है। अगर व्यक्ति का पैन कार्ड खो जाता है तो उसको दुबारा बनवाया जा सकता है। लेकिन कोई व्यक्ति यह चाहे कि उसको दो पैन कार्ड जारी कर दिए जाये तो यह संभव नही है।

पैन कार्ड केवल किसी इंसान का ही नही बनता बल्कि पैन कार्ड किसी कारोबार, बिजनेस, उद्योग, विभाग, सरकार, मंत्रालय, एकीकृत हिन्दू परिवार और किसी भी संस्था का भीबनता है।

सरकार की नजर में पैन कार्ड किसी भी व्यक्ति का आमदनी मांपने का जरिया है। टैक्स भरते समय जो महत्वपूर्ण कागज मांगा जाता है वह है पैन कार्ड। टैक्स भरने और फाइनेंशियल निवेश करने के लिए पैन कार्ड नंबर (Pan Card Number) अनिवार्य होता है।

पैन कार्ड नंबर कुल 10 अंकों का होता है जिसमे 6 अंगेजी के अक्षर होते हैं और 4 अंक होते हैं। पैन कार्ड नंबर में व्यक्ति का टैक्स और इन्वेस्ट सम्बंधित सभी डाटा होता है। पैन कार्ड के जरिये ही सिबिल क्रेडिट स्कोर चेक किया जाता है।

आपका बिजनेस कितना पुराना है?
पिछले साल की बिक्री ?
प्रथम नाम
अंतिम नाम
मोबाइल नंबर
अपने शहर का नाम दें

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

Icon1

न्यूनतम कागजात

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं है

Icon4

प्री-पेमेंट चार्जेंस फ्री

6 EMI का भुगतान करने के बाद

Icon3

सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

रकम आपके बैंक खाते में

पैन कार्ड कैसे बनता है?

PAN Card - पैन कार्ड को इनकम टैक्स अधिनियम, 1961 के तहत जारी किया जाता है, इसमें 10 डिजिट का अल्फानुमेरिक यूनिक कोड होता है। ये कोड कंप्यूटर द्वारा बनाया जाता है और प्रत्येक कार्डधारक का कोड अलग होता है।

पैन कार्ड ऑनलाइन और ऑफलाइन बनता है। लेकिन इतना कहना पर्याप्त नही है। ऑनलाइन पैन कार्ड अप्लाई (Online Pan Card Apply) करते समय व्यक्ति को अपनी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी देना होता है। ऑफलाइन तरीके से पैन कार्ड के लिए आवेदन करते समय व्यक्ति को भरे गये फॉर्म के साथ कुछ कागजात की फोटोकॉपी भी देना होता है।

पैन कार्ड ऑनलाइन अप्लाई करना - अप्लाई फॉर पैन कार्ड (How to Apply for Pan Card in Hindi)

ई फाइलिंग पैन कार्ड यानी पैन कार्ड ऑनलाइन अप्लाई के लिए सबसे पहले पैन कार्ड आवेदन के लिए NSDL और UTIITSL की वेबसाइट पर जाना होता है और वेबसाइट पर ‘न्यू पैन’ के विकल्प पर क्लिक करना होता है। अगर अभी पैन कार्ड के लिए अप्लाई करना है तो सीधे इस लिंक पर क्लिक करें https://www.onlineservices.nsdl.com/paam/endUserRegisterContact.html इस पैन कार्ड वेबसाइट को ओपन करना होता हैं। इस लिंक पर क्लिक करते ही पैन कार्ड का फॉर्म ओपन हो जाता है। यहां व्यक्ति को अपनी पर्सनल जानकारियां भरना होता है।

लिंक ओपन होने के बाद सबसे पहले यह पुछा जाता है कि क्या आपके पास पहले कोई पैन कार्ड है या नही है। इसके किस कैटेगरी में पैन कार्ड बनवाना है उसको सलेक्ट करना होता है। इसके बाद टाइटल सलेक्ट करना होता है इसके बाद नाम, जन्मतिथि, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर लिखकर सबमिट पर क्लिक कर देना होता है।

अप्लाई फॉर पैन कार्ड (Apply for Pan Card) के चरण में अब अगला चरण होता है जरूरी कागजात अपलोड करने का यहां पर पीडीऍफ़ फाइल में जरूरी कागजात अपलोड करना होता है। कागजात अपलोड करने के बाद फॉर्म सबमिट कर देना होता है।

अब व्यक्ति को पैन कार्ड बनने की फीस जमा करने का एक विकल्प खुलेगा। पैन कार्ड बनने की फीस 101 रुपये होती है जिसे ऑनलाइन ही जमा किया जा सकता है। पैन कार्ड की फीस जमा करने के बाद सबमिट पैन कार्ड फॉर्म पर क्लिक करना होता है।

पैन कार्ड फॉर्म सबमिट होते ही व्यक्ति को 15 अंकों का एक रजिस्ट्रेशन नंबर जेनरेट होकर मिल जाता है। रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर ही व्यक्ति अपना पैन कार्ड स्टेटस चेक कर सकते हैं।

जब पैन कार्ड बन जाता है तो भारतीय डाक के द्वार व्यक्ति के द्वारा दिए गये एड्रेस पर पहुंच जाता है। पैन कार्ड बनने की प्रक्रिया 15 दिन से 30 दिन के भीतर पूर्ण हो जाती है।

पैन कार्ड फॉर्म ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

ऑनलाइन पैन कार्ड बनवाने के साथ ही कोई भी व्यक्ति ऑफलाइन भी पैन कार्ड बनवा सकता है। ऑफलाइन पैन कार्ड बनवाने के लिए तो तरीका है- पहला खुद से और दूसरा रजिस्टर्ड एजेंट के द्वारा। दोनों ही तरीकों में ऑफलाइन फॉर्म भरना होता है।

ऑफलाइन पैन कार्ड फॉर्म 

पैन कार्ड ऑफलाइन आवेदन करने के लिए NSDL या UTIISL की वेबसाइट से पैन कार्ड फॉर्म डाउनलोड करें या UTIISL एजेंट से ये फॉर्म लेकर उसे अच्छी तरह भरें।

भरे गये फॉर्म में फोटो लगाये और फॉर्म के साथ कोई भी सरकार द्वारा जारी किया गया पहचान पत्र जैसे आधार, डीएल, वोटर आईडी इत्यादि में से कोई एक अटैच करना होता है। अब NSDL के ऑफिस में प्रोसेसिंग फीस के साथ फॉर्म जमा कर दें। फॉर्म में लिखे पते पर 15 दिनों में पैन कार्ड भेज दिया जाएगा

पैन कार्ड का स्टेटस कैसे चेक किया जाता है?

जब कोई व्यक्ति पैन कार्ड का फॉर्म भर देता है तो वह यह जानना चाहता है कि उसका पैन कार्ड कब तक बन जायेगा? या जब किसी व्यक्ति को बिजनेस लोन या मुद्रा योजना जैसे योजना का लाभ उठाना होता है तो वह चाहता है कि उसका पैन कार्ड जल्दी से जल्दी बनकर आ जाये।

क्या आप जानते हैं कि आप पैन कार्ड के लिए अप्लाई करने के बाद उसका स्टेटस भी चेक कर सकते हैं? जी हां ऐसा हो सकता है। पैन कार्ड स्टेटस चेक करने के लिए आपके सामने दो विकल्प उपलब्ध है। आप इन दोनों पैन कार्ड वेबसाइट में से किसी पर भी क्लिक करके अपना पैन कार्ड लोकेशन जाँच सकते हैं।
पैन कार्ड वेबसाइट (स्टेटस चेक करने के लिए) 
https://www.trackpan.utiitsl.com/PANONLINE/#forward

इस पैन कार्ड वेबसाइट को खुलने के बाद व्यक्ति को 15 अंकों वाला रजिस्ट्रेशन नंबर और अपनी जन्मतिथि दर्ज करना होता है और सबमिट बटन पर क्लिक करना होता है। सबमिट करते ही पैन कार्ड का स्टेटस आपके सामने आ जायेगा।

इसके आलावा आप पैन कार्ड स्टेटस मोबाइल नंबर के द्वारा भी चेक कर सकते है इसके लिए आप NSDL से पैन कार्ड इन्क्वारी नंबर – 020-27218080 पर फ़ोन कर के जानकारी प्राप्त कर सकते है।

आधार से पैन कार्ड लिंक

वर्तमान समय में सभी चीजे आधार कार्ड से लिंक हो रही हैं। ऐसे में पैन कार्ड अछूता कैसे रह सकता है भला? अब ऐसा नियम बना दिया गया है कि आधार से पैन कार्ड लिंक नही करने पर पैन कार्ड मान्य नही किया जाता है।

आधार से पैन कार्ड लिंक करने के लिए इस प्रोसेस को फ़ॉलो करें:

इस लिंक पर क्लिक करें http://www.incometaxindiaefiling.gov.in/home वेबसाइट खुलने के बाद बाई साइड में लिंक आधार पर क्लिक करना होता है। लिंक आधार पर क्लिक करते ही एक पेज खुलेगा जिसपर 5 जानकारी मांगी जाएगी।

इसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक कर देना होता है। क्लिक करने बाद आपको एक कन्फोर्मेशन के द्वारा बता दिया जाता है कि आपका आधार से पैन कार्ड लिंक कब तक हो जायेगा। इसका आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक मैसेज भी मिल जाता है।

ICICI-Prudential-Internal-page

बुनियादी समस्याओं का हल

राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?