आधार कार्ड (Aadhaar Card)


आधार कार्ड 2009 में अस्तित्व में आया है और उसके बाद लगातार आधार कार्ड महत्वपूर्ण होता जा रहा है। अब आधार कार्ड पहचान पत्र के साथ निवास प्रमाण के तौर पर भी कार्य करता है। लोन मार्केट में आधार तो अतिमहत्वपूर्ण है। बिजनेस लोन हो, पर्सनल लोन हो या कोई भी लोन हो। सभी के लिए आधार कार्ड चाहिए।

आपका बिजनेस कितना पुराना है?
पिछले साल की बिक्री ?
प्रथम नाम
अंतिम नाम
मोबाइल नंबर
अपने शहर का नाम दें

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

Icon1

न्यूनतम कागजात

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं है

Icon4

प्री-पेमेंट चार्जेंस फ्री

6 EMI का भुगतान करने के बाद

Icon3

सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

रकम आपके बैंक खाते में

आधार कार्ड क्या है?

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है आधार यानी एक स्थाईत्व। आधार कार्ड एक है जिसपर पर 16 अंकों का एक नंबर दर्ज होता है। इस 16 अंकों के आधार नंबर को आधार नंबर कहते हैं। इस आधार नंबर को नागरिक पहचान के लिए भी उपयोग किया जाता है।

आधार कार्ड कौन बनाता है?

आधार कार्ड बनाने वाली संस्था का नाम भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण यूआईडीएआई – UIDA है। आधार कार्ड की संकल्पना नंदन नीलकोणी के मार्गदर्शन में शुरु हुई थी। नंदन नीलकोणी ही यूआईडीएआई – UIDA के पहले चेयरमैन थे। आपको जानकारी के लिए बता दें कि नंदन नीलकोणी टेक कंपनी इन्फोसिस के संस्थापक सदस्यों में से एक थे।

भारत में आधिकारिक तौर पर आधार कार्ड की शुरुवात 28 जनवरी 2009 को हुई। कुछ समय बाद इस बात पर विचार किया गया गया कि आधार को हर भारतीय नागरिक के लिए अनिवार्य बना दिया जाये लेकिन सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद यह निर्णय वापस लेना पड़ा। वर्तमान समय में पहचान साबित करने के लिए और वेरिफिकेशन के लिए आधार का इस्तेमाल किया जाता है।

आधार कार्ड की वैधता

आधार कार्ड की जो टैग लाइन निर्धारित है वह है - आधार आम आदमी का अधिकार।इस तरह देखें तो आधार कार्ड को आधार आम आदमी का अधिकार कहकर केन्द्र सरकार इसे इसे हर भारतीय नागरिक के लिए जरूरी बता रही है। कारोबारियों के लिए अब कई बिजनेस लोन योजना चलाई जा रही है जैसे मुद्रा लोन योजना, उद्योग आधार – आधार उद्योग सुविधा इत्यादि। इन सभी का लाभ लेने के लिए आधार कार्ड जरूरी होता है।

आधार कार्ड की पात्रता (Aadhaar Card Eligiblity in Hindi)

आधार कार्ड बनवाने के लिए बहुत आसान योग्यता निर्धारित की गई है।

  • सभी भारतीय नागरिक
  • वह एनआरआई नागरिक जिनको 182 दोनों तक लगातार भारत में रहने की अनुमति प्राप्त है

कैसे बनता है आधार कार्ड - आधार कैसे बनता है? (How to Make Aadhaar Card)

किसी भी भारतीय नागरिक को आधार कार्ड बनवाने के लिए सबसे पहले आधार कार्ड की पात्रता की जाँच करना चाहिए। आधार बनवाने के लिए अपने नजदीकी किसी जनसुविधा केंद्र (यूआईडीएआई (UIDA मान्यता प्राप्त) पर जाना होता है। जनसुविधा केन्द्र पर जानकर संचालक से कहना होता है कि आधार कार्ड बनवाना है।

जब आप आधार कार्ड बनवाने जाते हैं तो आपको कुछ जरूरी कागज अपने पास रखना जरूरी होता है। आधार के लिय क्या कागज चाहिए होता है इसका विवरण इसके अगली लाइन में बताया जायगा। जब व्यक्ति अपना नाम, उम्र और पता बता देता है तो जनसुविधा केन्द्र का संचालक व्यक्ति का फोटो खींचता है, आँखों की रेटिना को दर्ज करता है और हाथ की अँगुलियों का निशान लेता है।

इस सभी प्रक्रिया को पूरा करने के बाद आधार बनवाने वाले व्यक्ति को आधार रजिस्ट्रेशन नंबर मिल जाता है। आधार रजिस्ट्रेशन नंबर का प्रिंटआउट लेकर व्यक्ति घर आ सकता है। आपको बता दें कि आधार कार्ड आपके द्वारा दिए गये एड्रेस पर डाक द्वारा भेजा जाता है। आधार कार्ड मिलने में 15 दिन से 1 महिना का समय लग सकता है।

आधार कार्ड के लिए जरूरी कागजी दस्तावेज ( Documents Required for Aadhaar Card)

आधार कार्ड बनवाने के लिए मोबाइल नंबर के अलावा सिर्फ 2 तरह के कागजी दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है- पहचान पत्र एड्रेस प्रूफ चाहिए होता है। पहचान पत्र के लिए निम्नलिखित से कोई एक होना चाहिए-

  1. पैन कार्ड
  2. पासपोर्ट
  3. वोटर आईडी कार्ड
  4. ड्राइविंग लाइसेंस
  5. राशन कार्ड
  6. सरकार द्वारा जारी किया गया कोई भी फोटो सहित पहचान पत्र

एड्रेस प्रूफ (Address Proof) के लिए इनमे से कोई एक

ई-आधार कार्ड कर सकते हैं खुद से डाउनलोड (E-Aadhaar Card Download)

जब कोई व्यक्ति ऑनलाइन आधार कार्ड अप्लाई कर देता है तो उसे एक यूआईडी रेफरेंस नंबर मिलता है। इसी रेफरेंस नंबर को आधार रजिस्ट्रेशन नंबर भी कहते हैं। जनसेवा केन्द्र से ऑनलाइन आधार कार्ड के लिए अप्लाई करने के 15 से 20 दिन बाद आपके द्वारा दिए गये मोबाइल नंबर पर आधार अपडेट आता है यानी आपका आधार कार्ड स्टेटस बताया जाता है।

आधार अपडेट के आधार कार्ड स्टेटस अगर यह बताया जाता है कि आपका आधार कार्ड नंबर जेनरेट हो गया है तो आप ऑनलाइन आधार कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। ऑनलाइन आधार कार्ड डाउनलोड करने से पहले आधार कार्ड देखे और यह सुनिश्चित करें कि आपके ई आधार कार्ड में कोई गलती तो नही है। अगर आपका आधार कार्ड पूरी तरह सही है तो ई आधार कार्ड ऑनलाइन डाउनलोड कर लेना चाहिए।

आधार कार्ड डाउनलोड कैसे होता है? (How to Download Aadhaar Card)

आधार एनरोलमेंट नंबर (ईआईडी) से इस तरह डाउनलोड करें ई-आधार:

ICICI-Prudential-Internal-page

बुनियादी समस्याओं का हल

राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?