डॉक्टर के लिए लोन क्या है?

डॉक्टर लोगों का ईलाज करते हैं। लोगों को स्वास्थ्य ठीक रखने में मदद करते हैं। लेकिन, क्या आपको पता है कि डॉक्टरों को भी अपना क्लिनिक चलाने के लिए लोन की जरूरत पड़ती है। जी हां, डॉक्टरों को भी अपना क्लिनिक चलाने के लिए, क्लिनिक में बेहतरीन रिसोर्स यानी संसाधन और ट्रेंड कर्मचारियों को काम पर रखने के लिए पैसों की जरूरत पड़ती है।

ऐसे में कई ऐसी एनबीएफसी कंपनियां और बैंक हैं जहां से डॉक्टर के लिए लोन देने की व्यवस्था की गई है। देश की प्रमुख नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी ZipLoan द्वारा डॉक्टरों के लिए पैसों की जरूरत को समझा जाता है, इसीलिए ZipLoan कंपनी द्वारा डॉक्टरों को 5 लाख तक का बिजनेस लोन सिर्फ 3 दिन* में बिना कुछ गिरवी रखे प्रदान प्रदान किया जाता है।

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

Icon1

न्यूनतम कागजात

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं है

Icon4

प्री-पेमेंट चार्जेंस फ्री

6 EMI का भुगतान करने के बाद

Icon3

सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

रकम आपके बैंक खाते में

देश में मेडिकल सुविधाओं की स्थिति

हमारे देश की आबादी वर्तमान में एक सौ तीस करोड़ से भी अधिक है। इतनी बड़ी आबादी वाले देश में सभी नागरिकों को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना किसी चुनौती से कम नहीं है। अगर देश में उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं की बात करें तो इसकी स्थिति बहुत बेहतर नहीं है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की एक रिपोर्ट के अनुसार देश में हर 11 हजार की जनसँख्या पर 1 डॉक्टर तैनात है। अब यह सोचने वाली बात है कि 11 हजार लोगों का 1 डॉक्टर कैसे ईलाज कर सकता है? अगर हम मानक संख्या की बात करें तो डब्लूएचओ के अनुसार 1 हजार लोगों पर 1 डॉक्टर की तैनाती होनी चाहिए।

अब यह चौकाने वाली ही बात है कि जहां 1 हजार लोगों पर 1 डॉक्टर होना चाहिए वहां 11 हजार लोगों पर 1 डॉक्टर तैनात है। ऐसी स्थिति में देश की स्वास्थ्य व्यवस्था की क्या हालत है, कहने की जरूरत नहीं है।

ऐसे में एक सवाल यह भी उठता है कि आखिर ऐसी स्थिति हुई कैसे? तो इसका जवाब भी अपने – आप में चौकाने वाला है। देश में उपलब्ध मेडिकल सीटों के हिसाब से यह समझा जा सकता है कि देश में स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति बदतर क्यों है।

देश में 272 सरकारी मेडिकल कॉलेज हैं जिसमे 41,388 एमबीबीएस की सीटें हैं और 532 प्राइवेट मेडिकल कॉलेज हैं जिसमे 76,928 एमबीबीएस सीटें हैं। इस तरह देखा जाए तो देश उपलब्ध 807 मेडिकल कॉलेजों में 1,18,316‬ सीटें हैं।

इस तरह हम देखते हैं की देश में हर साल 1 लाख 18 हजार 316 एमबीबीएस डिग्रीधारक कॉलेजों से निकलते हैं। इन सभी मेडिकल स्नातकों में से सभी नौकरी में ना जाकर इनमें से बहुत अधिक संख्या में डॉक्टर खुद की मेडिकल डिस्पेंसरी या अस्पताल खोलना पसंद करते हैं।

चूंकि जब कोई नया मेडिकल स्नातक खुद की क्लिनिक खोलता है तब शुरुवात में उसके पास इतना धन नहीं होता है कि वह अपने क्लिनिक में उन्नत मेडिकल उपकरण रखने के साथ ट्रेंड मेडिकल कर्मचारियों को अपनी क्लिनिक में काम करने के लिए रख सके।

ऐसे में अगर कहीं से डॉक्टर को बिजनेस लोन मिल पाता है तो उसके लिए यह बहुत बेहतरीन साबित होगा। डॉक्टरों को मिलने वाले बिजनेस लोन के बारें में जानिए विस्तार से।

डॉक्टरों के लिए लोन क्या है?

देश कई बैंक और एनबीएफसी कम्पनियां हैं, जहां से डॉक्टरों को बिजनेस लोन दिया जाता है। देश की प्रमुख नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी – एनबीएफसी ZipLoan द्वारा डॉक्टरों को 5 लाख तक का बिजनेस लोन सिर्फ 3 दिन* में बिना कुछ गिरवी रखे दिया जाता है।

डॉक्टरों को कई बैंक और कई कम्पनियां हैं जो लोन ऑफर करते हैं लेकिन सभी के सभी बहुत अधिक कागजी दस्तावेजों की मांग करते हैं और उनकी लोन देने की शर्ते बहुत अधिक होती हैं। ऐसे में डॉक्टर अगर लोन के लिए कागजातों को ही इक्कठा करते रहेंगे तो वह अपने क्लिनिक के लिए कब समय दे पाएंगे।

अगर डॉक्टरों को लोन देने के लिए बहुत अधिक शर्ते लगा दी जायेंगी तब बहुत से ऐसे डॉक्टर लोन पाने से वंचित रह जायेंगे, जिनको वास्तविक रुप से बिजनेस लोन की जरूरत होती है। ZipLoan द्वारा डॉक्टरों के लिए पैसों की जरूरत को समझा जाता है, इसीलिए डॉक्टरों के लिए बिजनेस लोन बहुत शर्ते के साथ ही सिर्फ 5 कागजातों पर मुहैया कराया जाता है।

डॉक्टरों के लिए लोन हेतु शर्ते

ZipLoan द्वारा इस बात का ध्यान रखा जाता है कि डॉक्टरों को लोन देने की शर्ते कम रखी जाए ताकि अधिक से अधिक डॉक्टरों को लोन मिल सके, इसीलिए ZipLoan से डॉक्टरों के लिए बिजनेस लोन की शर्ते बहुत मामूली हैं:

  • क्लिनिक दो साल से अधिक पुराना हो।
  • क्लिनिक का सालाना टर्नओवर 5 लाख से अधिक हो।
  • सालाना आईटीआर डेढ़ लाख से अधिक फाइल की जाती हो।
  • घर की जगह या क्लिनिक की जगह में से कोई एक खुद के नाम पर हो (यह माता – पिता, पति – पत्नी, भाई – बहन, पुत्र – पुत्री के नाम पर हो तो भी मान्य किया जाता है।)

डॉक्टरों के लिए लोन हेतु जरूरी कागजों की जरूरत

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • पिछले 9 महीने का बैंक स्टेटमेंट (करेंट बैंक खाता होना चाहिए)
  • क्लिनिक रजिस्ट्रेशन प्रूफ
  • घर की जगह या क्लिनिक की जगह में से किसी एक का प्रूफ (यह माता – पिता, पति – पत्नी, भाई – बहन, पुत्र – पुत्री के नाम पर हो तो भी मान्य किया जाता है।)

ZipLoan से डॉक्टर बिजनेस लोन लेते हैं तो उनको निम्न फायदा होगा

  • बिजनेस लोन सिर्फ 3 दिन* में: डॉक्टरों के लिए पैसों की जरूरत को समझा जाता है, इसीलिए कागजात कम्पलीट होने पर सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है।
  • बिना कुछ गिरवी रखे बिजनेस लोन: कई बार ऐसा होता है कि डॉक्टरों को बिजनेस लोन की जरूरत तो होती है लेकिन उनके पास कुछ गिरवी रखने के लिए नहीं होता है। डॉक्टरों की इस समस्या को देखते हुए ZipLoan द्वारा बिना कुछ गिरवी रखे बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है।
  • 6 महीने बाद प्री पेमेंट चार्जेस फ्री: कई ऐसे भी डॉक्टर भी होते हैं जिनका पैसा मार्केट इन्वेस्ट हुआ होता है, लेकिन उनको तत्काल में पैसों की जरूरत होती है। ऐसी स्थिति में डॉक्टर कहीं और से लोन लेते हैं तो उनको लोन खत्म होते तक इंटरेस्ट देना होता है और वह समय से पहले लोन एक साथ चुकाते हैं तो एक्स्ट्रा पैसा देना होता है, लेकिन ZipLoan से डॉक्टर बिजनेस लोन लेते हैं तो वह 6 महीने के बाद बिजनेस लोन कभी भी बिना प्री पेमेंट चार्जेस के वापस कर सकते हैं।
  • टॉप-अप लोन की सुविधा: ZipLoan द्वारा डॉक्टरों के लिए पैसों की जरूरत को समझा जाता है, इसीलिए 9 EMI जमा करने वाले डॉक्टरों को साढ़े 7 तक का बिजनेस लोन देने के लिए टॉप – अप लोन की भी सुविधा प्रदान करता है।
ICICI-Prudential-Internal-page

बुनियादी समस्याओं का हल

राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?